Ford Aspire Facelift भारत में हुई लॉन्च, कीमत 5.55 लाख रुपये से शुरू

ऑटो डेस्क। फोर्ड ने भारत में अपनी बेहद लोकप्रिय कॉम्पैक्ट सेडान कार एस्पायर का फेसलिफ्ट मॉडल लॉन्च कर दिया है। यह कार पेट्रोल और डीजल में उपलब्ध होगी और इसकी दिल्ली में एक्स-शो रूम कीमत 5.55 लाख रुपये से लेकर 8.49 लाख रुपये तक जाती है। 2018 फोर्ड एस्पायर में 5 वेरिएंट्स आपको मिलेंगे जो क्रमशः Ambiente, Trend, Trend+, Titanium, and Titanium+ हैं। पिछले हफ्ते ही इस कार की बुकिंग शुरू कर दी गई थी और इसकी डिलीवरी भी अब शुरू हो चुकी है। बाजार में इसका मुकाबला मारुति सुजुकी डिजायर, होंडा अमेज, फॉक्सवैगन एमियो और टाटा टिगोर से है।

एक नजर कीमत और वेरिएंट पर…

एस्पायर पेट्रोल

  • एम्बिएंट 2 लीटर एमटी: 5.55 लाख रूपए
  • ट्रेंड 2 लीटर एमटी: 5.99 लाख रूपए
  • ट्रेंड प्लस 2 लीटर एमटी: 6.39 लाख रूपए
  • टाइटेनियम 2 लीटर एमटी: 6.79 लाख रूपए
  • टाइटेनियम प्लस 2 लीटर एमटी: 7.24 लाख रूपए
  • टाइटेनियम 5 लीटर एटी: 8.49 लाख रूपए

एस्पायर डीज़ल

  • एम्बिएंट 5 लीटर: 6.45 लाख रूपए
  • ट्रेंड 5 लीटर: 6.89 लाख रूपए
  • ट्रेंड प्लस 5 लीटर: 7.29 लाख रूपए
  • टाइटेनियम 5 लीटर: 7.69 लाख रूपए
  • टाइटेनियम प्लस 5 लीटर: 8.14 लाख रूपए

इंजन: नई फेसलिफ्ट एस्पायर में सबसे बड़ा बदलाव इसके इंजन में हुआ है। इस कार में फ्रीस्टाइल वाला 1.2 लीटर ड्रेगन सीरीज पेट्रोल इंजन लगा है, जो 96 पीएस की पावर और 120 एनएम का टॉर्क देता है। और यह इंजन 5-स्पीड मैन्युअल गियरबॉक्स से लैस है। इसके अलावा कार में ईकोस्पोर्ट वाला 1.5 लीटर पेट्रोल इंजन भी शामिल दिया गया है जोकि  123 पीएस की पावर और 150 एनएम का टॉर्क देता है। यह इंजन 6-स्पीड गियरबॉक्स से लैस है। बात डीज़ल इंजन की करें तो इसमें 1.5 लीटर का इंजन लगा है, जो 100 पीएस की पावर और 215 एनएम का टॉर्क देता है। यह इंजन 5-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स से लैस है।

नए बदलाव: कार में नया बम्पर और ग्रिल देखने को मिलेगी। इसमें 15 इंच के एलाय व्हील्स दिए गये हैं जबकि पुराने मॉडल में 14 इंच के व्हील्स लगे थे। इसके केबिन में पहले की तरह ड्यूल-टोन ब्लैक और बैज़ कलर कोम्बिनेशन वाला डैशबोर्ड दिया गया है। इतना ही नहीं कार में फ्रीस्टाइल वाला 6.5 इंच सिंक-3 टचस्क्रीन इंफोटेंमेंट सिस्टम लगा है, जो एंड्राइड ऑटो और एपल कारप्ले सपोर्ट करता है। फेसलिफ्ट एस्पायर में लैदरेट अपहोल्स्ट्री की कमी नजर आती है। जबकि पुरानी एस्पायर के टॉप वेरिएंट में लैदर वाली अपहोल्स्ट्री दी गई थी। फेसलिफ्ट एस्पायर में फैब्रिक अपहोल्स्ट्री दी गई है।