Escorts ने ग्राहकों के लिए शुरू की 24X7 केयर सेवा, मिलेंगे ये फायदे

ऑटो डेस्क। भारत की बड़ी ट्रैक्टर कंपनी एस्कॉर्ट्स ने अपनी पावरट्रैक और फार्मट्रैक ट्रक्टरों की संपूर्ण रेंज में ‘24X7 केयर बटन’ की सुविधा लांच की है। एस्कॉर्ट्स के सभी ग्राहक अब सिर्फ अपने ट्रैक्टर पर एक खास बटन को दिन के किसी भी समय दबाकर, किसी भी प्रकार की तकनीकी व अन्य सहायता प्राप्त कर सकेंगे। इस बटन को दबाने के 2 मिनट के अंदर ही ग्राहक को कंपनी के प्रशिक्षित इंजीनियर कॉल करेंगे और ज़रूरी सहायता प्रदान करेंगे। कंपनी का दावा है कि इस प्रकार से हर वक्त अपने ग्राहकों के संपर्क में रहना संभव होगा और उन्हें कभी भी ज़रूरत पड़ने पर तत्काल मदद की जा सकेगी।

इस मौके पर एस्कॉर्ट्स एग्री मशीनरी के सीईओ, श्री शेनु अग्रवाल ने कहा, “एस्कॉर्ट्स में हम 24X7 केयर बटन की शुरुआत के साथ ही ग्राहक सेवा में नए मापदंड तैयार करना चाहते हैं। हमारे ट्रैक्टर देश के दूर-दराज़ के इलाकों में चलाए जाते हैं। हमारे ग्राहकों की आजीविका उनके ट्रैक्टरों के भरोसे चलती है। व्यस्त सीज़न में एक भी दिन ट्रैक्टर में कोई तकलीफ आने से उन्हें बड़ा नुकसान हो सकता है। कोई भी समस्या आने पर उन्हें तुरंत सहायता प्रदान करना हमारा कर्तव्य है। इसके लिए हम बड़ी संख्या में मोबाइल सर्विस वैन और बाइक में निवेश कर रहे हैं, जो हमारी डीलरशिप पर तैनात रहेंगी और ज़रूरत पड़ने पर ग्राहक के स्थान पर पहुंचकर उन्हें शीघ्र सहायता प्रदान करेगी।”

एस्कॉर्ट्स द्वारा विकिसत केयर 24X7 डिवाइस तकनीकी उत्कृष्टता का भी उदाहरण है। अब यह डिवाइस सभी पावरट्रैक और फार्मट्रैक ट्रैक्टर्स पर फैक्ट्री में ही फिट की जाती है, जिसमें एक स्पीकर फोन, एक माइक्रोफोन और एक खास तौर पर निर्मित सिम कार्ड भी है, जो एस्कॉर्ट्स को अपने बेचे गए ट्रैक्टर और उसे खरीदने वाले ग्राहक के साथ दो-तरफा और सीधा संपर्क बनाने में मदद करेगा। इस बटन को दबाने के बाद, कुछ ही सेकेंड में ग्राहक को कंपनी की तरफ से कॉल आ जाता है और कंपनी के प्रशिक्षित इंजीनियर उन्हें ऑनलाइन सहायता प्रदान करते हैं। अगर किसी कारणवश ग्राहक को उसके मोबाइल पर संपर्क नहीं किया सकता, तो ट्रैक्टर पर लगी डिवाइस में मौजूद सिम पर कॉल किया जाएगा और उसमें मौजूद स्पीकर और माइक्रोफोन से बातचीत की जा सकेगी। इसके बाद अगर ज़रूरत पड़ती है तो कंपनी का इंजीनियर निकटतम एस्कॉर्ट्स डीलरशिप से अपने प्रशिक्षित कर्मचारियों को रवाना करेंगे