गाड़ी में ऑयल चेंज नहीं करवाया तो हो सकता है भारी नुकसान, इस तरह गाड़ी पर डालता है असर

नई दिल्ली।अक्सर देखने को मिलता है कई लोग अपनी गाड़ी का भरपूर इस्तेमाल तो करते हैं, लेकिन उसकी सर्विस पर खास ध्यान नहीं देते हैं. साथ ही गाड़ी के इंजन के लिए सबसे जरूरी इंजन ऑयल को समय समय पर चेंज नहीं करवाते हैं. इससे ना सिर्फ गाड़ी को नुकसान होता है, बल्कि इसका असर आपकी जेब पर भी पड़ता है. ऐसे में अगर आपके पास गाड़ी है तो आप भी इस समय-समय पर इसका ऑयल चेंज करवा लें, नहीं तो आपको भी दिक्कत हो सकती है.

ऐसे में जानते हैं कि अगर इंजन ऑयल सही समय पर बदला जाए तो क्या क्या गाड़ी पर क्या असर पड़ता है. हम आपको एक्सपर्ट की राय के साथ बताते हैं कि गाड़ी के लिए इंजन ऑयल कितना जरूरी है. इस स्थिति में गुड ईयर ऑयल आपकी गाड़ी के लिए बेहतर ऑप्शन साबित हो सकता है. दरअसल, गुड ईयर अपने रॉ मैटेरियल की वजह से अन्य ऑयल से काफी अलग है. गुड ईयर लुब्रिकेंट्स के संजय शर्मा, कंट्री हेड (सेल्स, मार्केटिंग एंड ऑपरेशन्स एश्योरेंस इंटरनेशनल लिमिटेड- गुड ईयर लुब्रिकेंट्स)  ने भी बताया, ‘हम ऑयल के लिए आवश्यक कच्चा माल जैसे बेस ऑयल और एडिटिव्स दुनिया के बेस्ट सप्लायर्स से लेते हैं. हम सुनिश्चित करते हैं कि हमारे ग्राहकों को हमारे प्रोडक्ट से ज्यादा से ज्यादा सुरक्षा और परफोर्मेंस मिले. हर एक प्रोडक्ट वाहनों में प्रदर्शन, विश्वसनीयता और उम्र बढ़ाने के लिए डिजाइन किया गया है.’

इंजन नहीं रहेगा सुरक्षित

दरअसल, इंजन तेल का सबसे महत्वपूर्ण कारण लुब्रिकेशन होता है. यह इंजन में हर हिस्से या पुर्जे को प्रोटेक्ट करता है और उन्हें एक-दूसरे से साफ रखता है. ऐसे में समय-समय पर ऑयल ना बदलवाने से दिक्कत हो सकती है और कुछ समय तक ऐसा करने से इसकी इंजन पर काफी असर पड़ता है. लंबे समय तक ऑयल के इस्तेमाल से घर्षण आदि को कम करने वाले तत्व कम हो जाते हैं और इसका मतलब ये होता है कि अब ऑयल में काम करने की शक्ति नहीं बची है.

इंजन से आवाज आना शुरू हो सकती है

जब इंजन ऑयल की कमी हो जाती है तो इंजन के अंदर के हिस्सों को लुब्रिकेशन यानी चिकनाई नहीं मिलती है. इस वजह से ये पुर्जे एक दूसरे के संपर्क में आते हैं और घर्षण की वजह से तेज आवाज आना शुरू हो जाती है. वहीं, अगर ऑयल का लेवल कम होता है तो इंजन में ऑयल प्रेशर की वजह से बैरिंग आदि की आवाज आने लगती है. साथ ही ऑयल पुराना हो जाने पर भी मोटर से आवाज शुरू आना शुरू हो जाती है.

गाड़ी की उम्र होती है कम

इंजन आपकी गाड़ी का सबसे अहम हिस्सा होता है, इसलिए अगर आप इस पर उचित ध्यान नहीं देते हैं और समय पर ऑयल चेंज नहीं करवाते हैं तो यह निश्चित है कि आपका वाहन उतने दिन नहीं चल पाता, जितने दिन की उम्मीद होती है. दरअसल, आपकी गाड़ी के इंजन के पुर्जे चिकनाई और सुरक्षा के अभाव के कारण रुक जाते हैं और वाहन भी तब तक ही काम करेगा जब तक कि उसकी पूरी तरह से देखभाल होगी.

गाड़ी का इंजन ओवरहीट करना शुरू कर देगा

अगर आपकी गाड़ी के इंजन में हमेशा सही मात्रा में तेल नहीं रहेगा, तो यह इंजन पर तनाव पैदा हो सकता है और इसके परिणामस्वरूप ओवरहीटिंग हो सकती है. तेल उस घर्षण को कम करने में मदद करता है, जबकि कूलेंट वाहन के तापमान को नियंत्रित करता है.

आपकी जेब पर भी पड़ेगा असर

इतना ही नहीं, इससे आपकी जेब पर भी काफी असर पड़ेगा, क्योंकि इससे आपका खर्चा बढ़ जाएगा. वैसे तो आप सोच रहे होंगे कि बार बार ऑयल चेंज करवाना खर्चे का काम हो सकता है. लेकिन इससे आपका इंजन खराब हो सकता है और इसके बाद आप इंजन ठीक करवाते हैं तो आपका खर्चा ऑयल से काफी ज्यादा हो सकता है.