ख़ास-मुलाक़ात: आयुष लोहिया, सीईओ, लोहिया ऑटो

Mr. Ayush Lohia, CEO, Lohia Auto Industries.

साल 2008 में इस्टैब्लिश हुई लोहिया ऑटो  को आज किसी पहचान की जरूरत नहीं है। एक्सपोर्ट, रिटेल्स, रियल-स्टेट, एनर्जी और ऑटोमोबाइल में इसका अच्छा नाम है और लगातार कंपनी बेहतर प्रयास कर  रही है। लोहिया ऑटो ने केवल 2 इलेक्ट्रिक बाइक्स से शुरुआत की थी और आज कंपनी के पास 10 प्रोडक्ट्स की नई रेंज है। इतने कम समय में लोहिया ऑटो को कामयाबी के शिखर पर ले जाने में कंपनी के सीईओ, यंग और डायनामिक आयुष लोहिया की कड़ी मेहनत इनकी यंग सोच की बदौलत कंपनी अब हाई स्पीड व्हीकल्स सेगमेंट में उतरने जा रही है। आयुष लोहिया के साथ हमारी ख़ास मुलाक़ात हुई। पेश है इस बातचीत के मुख्य अंश…

सवाल: जिस तरह पेट्रोल और डीजल की कीमतें बढ़ और घट रही है ऐसे में इलेक्ट्रिक व्हीकल सबसे अच्छा ऑप्शन है लेकिन अभी भी लोग इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को अपना नहीं रहे है इसकी आप क्या वजह मानते है ?

जवाब: देखिये लोगों में अभी भी इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को लेकर जागरूकता नहीं है हालांकि सरकार सब्सिडी दे रही है। जैसे लोगों को बार-बार बताया जाता है की LED बल्ब इस्तेमाल करने से बिजली की बचत होती है, रेड लाइट पर गाड़ी बंद करने से फ्यूल की बचत होती है। LPG की सब्सिडी छोड़ने पर किसी गरीब का भला होगा  ठीक ऐसे ही लोगों को यह बताने की जरूरत है की इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के इस्तेमाल से काफी फायदा है जिस तरह पेट्रोल पंप हर जगह पर ठीक उसी तरह अगर चार्जिंग स्टेशन/पॉइंट भी बनने लगे तो यकीनन इससे फायदा होगा और लोग इलेक्ट्रिक व्हीकल्स का अपनाने लगेंगे।

सवाल: डीजल गाड़ियों को बैन करने से क्या इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को बढ़ावा मिलेगा ?

जवाब: डीज़ल गाडियां बैन होने से ऑल्टर्नटिव व्हीकल्स की तरफ रूख किया जाना चाइये जिसमें CNG, LPG  पेट्रोल, नेचुरल गैस या इलेक्ट्रिक व्हीकल्स शामिल है। लेकिन पूरी तरह से केवल इलेक्ट्रिक गाड़ियों का इस्तेमाल नहीं किया जा सकेगा क्योकि इंडिया में वो जागरूकता और इन्फ्रस्ट्रक्चर नहीं है जो इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के लिए होना चाइये। जैसे चार्जिंग स्टेशन/पॉइंट अगर इस पर सरकार की तरफ से उचित कदम उठाये जाएं तो यकीनन बैट्री/ इलेक्ट्रिक गाड़ियों को जरूर फायदा मिलेगा। विकसित देशों में इन्फ्रस्ट्रक्चर बिल्ड हो रहा है जिसकी वजह से लोग इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को अपना रहे है। लेकिन इंडिया में अभी ऐसा नहीं है लेकिन अगर उचित कदम उठाये जाएं तो बिलकुल इंडस्ट्री में एक बड़ा चेंज आएगा।

सवाल: आमतौर पर इलेक्ट्रिक बाइक या स्कूटर के डिजाइन पर आप किस तरह का काम कर रहे है ?  

जवाब: हम बिलकुल वर्क कर रहे है हमारी कंपनी ऐसे डिज़ाइन पर काम कर रही है जो फ्यूचरिस्ट होगें और यूथ को पसंद आएगें। ये प्रोडक्ट्स कन्सूमर के हिसाब के तैयार किये जायंगे ताकि बिना किसी परेशानी के वो इन्हें इस्तेमाल कर सकेंगे।

सवाल: आने वाले समय में और कितने नए प्रोडक्ट्स देखने को मिलेगें?

जवाब: हम थ्री-व्हीलर डिविजन मे हम अलग-अलग काम कर रहे है जो लॉन्च भी कर दिए है। इलेक्ट्रिक रिक्शा में हमारे 7-8 मॉडल पास करा लिए है और 4-5 मॉडल पाइपलाइन में है। इलेक्ट्रिक टू-व्हीलर पर अभी डिजाइन और तकनीकी तौर पर काफी काम हो रहा है और आनेवाले एक से दो साल के अन्दर हम लॉन्च कर करेंगे। हम 80-100 kmph की रफ़्तार से चलने वाले व्हीकल्स पर काम कर रहे है जो यूथ की मांग है, इनमें  बढ़िया बैट्री होगी, बेहतर माइलेज मिलेगी, 3 साल की वारेंटी, और साथ ही पॉवरफुल भी होंगे ताकि चलाने में मज़ा आए इतना ही नहीं मोबाइल चार्ज करने की भी सुविधा होगी और 1 घंटे से कम समय में चार्ज करने में सक्षम होंगें। तो ऐसी ही कई और बढ़िया खूबियां देने पर अभी काम चल रहा है।

सवाल: भारत में लोहिया ऑटो  के फिलहाल कितने प्लांट है? और इलेक्ट्रिक रिक्शा के बारे में थोड़ा बताएं

भारत में हमारा अभी एक ही प्लांट है जो की काशीपुर में है और इसकी प्रोडक्शन कपैसिटी टू-व्हीलर और थ्री-व्हीलर को मिलकर एक लाख यूनिट्स सालाना है  और अगले 3-5 साल में हम और नए प्लांट खोलेंगे इसके अलावा इलेक्ट्रिक रिक्शा में हमारा मार्किट शेयर काफी अच्छा है क्योकि इसमें कुछ ऐसी खूबियां है जो दूसरे चाइनिज इलेक्ट्रिक रिक्शा में नहीं मिलती जैसे इनमे 17इंच व्हील, हाई परफॉरमेंस, चैन ड्राइव मोटर, डूरेबिलिटी, 5 से 10 साल तक आराम से चलते है इसके अलावा हम 2 साल की वारंटी देते है

सवाल: इलेक्ट्रिक व्हीकल्स को अभी उतना बढ़ावा नहीं मिल पा रहा है ऐसे में सरकार से आप क्या कहना चाहेंगे?

जवाब: सरकार से में यही कहना चाहता हूं की लोगों में जागरूकता पैदा करें, इलेक्ट्रिक व्हीकल्स के फायदें लोगों को बताएं और इन्फ्रस्ट्रक्चर को और मजबूत बनाये और अगर ऐसा होता है तो कस्टमर इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की तरफ रूख करेगा खासकर यूथ को भी इस ओर लाने की जरूरत है ताकि आने वाले सालों में इलेक्ट्रिक व्हीकल्स यूथ में पॉपुलर हो।


Interview by: Bani kalra, founder & editor, motor tech india