मारूति सुजुकी ने कहा कि 6 लाख रूपए में इलेक्ट्रिक कारें बनाना आसान नहीं, जानिये वजह

इलेक्ट्रिक कारों में इस्तेमाल होने वाली बैटरी की लागत काफी ज्यादा आती है

ऑटो डेस्क। देश में सस्ती और अच्छी इलेक्ट्रिक गाड़ियां बनाने को लेकर देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारूति सुज़ुकी ने चिंता जताई है। कामीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी ने अपने एक बयान में कहा है कि पांच लाख से छह लाख रूपए कीमत में इलेक्ट्रिक कारें बनाना आसान नहीं है क्योकिं इलेक्ट्रिक कारों में इस्तेमाल होने वाली बैटरी की लागत काफी ज्यादा आती है ऐसे में सस्ती कारें बनाना आसान नहीं है बल्कि काफी मुश्किल है।

मारूति सुज़ुकी के सीईओ केनीची अयाकावा ने यह भी कहा है कि भारत में ग्राहक कम कीमत में एक अच्छी कार खरीदने की चाहत रखते हैं। अगर कंपनी अफोर्डेबल इलेक्ट्रिक कार उतारती है तो ये भारतीय ग्राहकों के बजट में आसानी से आ जाएगी। लेकिन कंपनी को छोटी और अफोर्डेबल इलेक्ट्रिक कारें तैयार करने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा रहा है। कंपनी बैटरी की कीमत को कम करने के लिए काफी प्रयास कर रही है।

मारुति सुजुकी ने कुछ समय पहले लिथियम आयन बैटरी बनाने के लिए गुजरात में प्लांट लगाया है ताकि  देश में इलेक्ट्रिक कारें बनाने से इनकी कीमत को कम रखने में काफी मदद मिलेगी। कारों की कीमत को और कम करने के लिए मारूति सुज़ुकी ने टोयोटा से भी हाथ मिलाया है। उम्मीद जताई जा रही है कि मारूति सुज़ुकी की पहली इलेक्ट्रिक कार साल 2020 तक लॉन्च होगी।